10.8 C
Shimla
Sunday, January 26, 2020

धर्मशाला के खनियारा की भूत शिला वाले भूत का डर

प्रस्तावना: इन हिमाचल की बेहद लोकप्रिय 'हॉरर एनकाउंटर' सीरीज़ के चौथे सीज़न की ये तीसरी कहानी है। इन कहानियों को छापने का मकसद यह दावा करना नहीं है कि भूत-प्रेत वाकई होते हैं। हम अंधविश्वास फैलाने...

हॉरर: आधी रात को कमरे में तैरता वो साया जो काले धुएं में बदल...

प्रस्तावना: इन हिमाचल की बेहद लोकप्रिय 'हॉरर एनकाउंटर' सीरीज़ के चौथे सीज़न की ये दूसरी कहानी है। इन कहानियों को छापने का मकसद यह दावा करना नहीं है कि भूत-प्रेत वाकई होते हैं। हम अंधविश्वास फैलाने...

हॉरर एनकाउंटर: जब बक्कर खड्ड में अचानक थमी दुल्हन की डोली

प्रस्तावना: इन हिमाचल की बेहद लोकप्रिय 'हॉरर एनकाउंटर' सीरीज़ के चौथे सीज़न की ये पहली कहानी है। इन कहानियों को छापने का मकसद यह दावा करना नहीं है कि भूत-प्रेत वाकई होते हैं। हम अंधविश्वास फैलाने...

Horror Encounter: वह क्या था, कोई साया या फिर बच्चे के मन का वहम?

प्रस्तावना: ‘इन हिमाचल’ पिछले दो सालों से ‘हॉरर एनकाउंटर’ सीरीज़ के माध्यम से भूत-प्रेत के रोमांचक किस्सों को जीवंत रखने की कोशिश कर रहा है। ऐसे ही किस्से हमारे बड़े-बुजुर्ग सुनाया करते थे। हम...

Horror Encounter: गुम्मा नमक लेकर सरकाघाट आते हुए ब्यास पर दिखी ‘चुड़ैल’

प्रस्तावना: ‘इन हिमाचल’ पिछले दो सालों से ‘हॉरर एनकाउंटर’ सीरीज़ के माध्यम से भूत-प्रेत के रोमांचक किस्सों को जीवंत रखने की कोशिश कर रहा है। ऐसे ही किस्से हमारे बड़े-बुजुर्ग सुनाया करते थे। हम...

Horror Encounter: कौन थी बर्फीली रात में चौड़ा मैदान के पास मिली महिला?

प्रस्तावना: ‘इन हिमाचल’ पिछले दो सालों से ‘हॉरर एनकाउंटर’ सीरीज़ के माध्यम से भूत-प्रेत के रोमांचक किस्सों को जीवंत रखने की कोशिश कर रहा है। ऐसे ही किस्से हमारे बड़े-बुजुर्ग सुनाया करते थे। हम...

HorrorEncounter: धर्मशाला जाते समय आधी रात को सड़क पर हुआ ‘छल’

प्रस्तावना: ‘इन हिमाचल’ पिछले दो सालों से ‘हॉरर एनकाउंटर’ सीरीज़ के माध्यम से भूत-प्रेत के रोमांचक किस्सों को जीवंत रखने की कोशिश कर रहा है। ऐसे ही किस्से हमारे बड़े-बुजुर्ग सुनाया करते थे। हम आमंत्रित...

HorrorEncounter: रोहड़ू के गांव में झाड़ी से निकलकर बीड़ी मांगने वाला रहस्यमय बूढ़ा

प्रस्तावना: ‘इन हिमाचल’ पिछले दो सालों से ‘हॉरर एनकाउंटर’ सीरीज़ के माध्यम से भूत-प्रेत के रोमांचक किस्सों को जीवंत रखने की कोशिश कर रहा है। ऐसे ही किस्से हमारे बड़े-बुजुर्ग सुनाया करते थे। हम आमंत्रित...

कौन था बरोट-जोगिंदर नगर के बीच की पहाड़ी पर फंसे दोस्तों को बचाने वाला...

प्रस्तावना: पहाड़ों में हमेशा से आबादी कम रही है। पहले तो सड़कें भी नहीं होती थी और लाइट भी नहीं। इसलिए दूर-दूर बसे गांवों के बीच रात को आना-जाना आसान नहीं था। इसलिए जब कभी...

जब रात को छत पर दोस्त से बात करते हुए दिखा एक साया…

#HorrorEncounterSeason2 रात के 12 बज रहे हैं और आज फिर मुझे नींद नहीं आ रही। पिछले 7 दिन से मेरे साथ ऐसा ही हो रहा है। सोने से डर लग रहा है। सोती हूं तो...