झूठी है दयाल प्यारी के अपहरण की खबर, खुद गईं समर्थकों की गाड़ी में

एमबीएम न्यूज, सोलन।। कुछ पोर्टल खबर दे रहे हैं कि नामांकन वापस लेने से इनकार करने पर बीजेपी से बागी हुईं दयाल प्यारी का अपहरण कर लिया गया। मगर पच्छाद से नामांकन दाखिल करने वाली दयाल प्यारी को लेकर फैलाई जा रही यह खबर सही नहीं है।

अब पता चला है कि दयाल प्यारी के अपने ही समर्थकों ने उन्हें काले रंग की स्कार्पियो में बिठाकर सीधे ही प्राचीन भूरेश्वर महादेव मंदिर का रुख किया था। अंतिम जानकारी के मुताबिक भूरेश्वर महादेव मंदिर में ही दयाल प्यारी की बैठक जारी है।

पिछले 48 घंटों से दयाल प्यारी के बारे में जानकारी नहीं थी। ऐसी आशंका जाहिर की जा रही थी कि बीजेपी का जबरदस्त दबाव है। लेकिन आज सुबह जैसे ही ससुर व पति के अलावा समर्थकों से आमना-सामना हुआ तो सीधे ही मीडिया के सामने आकर चुनाव लड़ने की बात कही।

एमबीएम न्यूज नेटवर्क का फेसबुक पेज लाइक करें

बताया जा रहा है कि इस दौरान एक-दो महिलाएं चाहती थी कि दयाल प्यारी उनके साथ चले, लेकिन समर्थकों ने उन्हें अपनी स्कार्पियो में बिठा दिया। इसे लेकर ही सोशल मीडिया पर अगवा किए जाने और इसका दोष बीजेपी को दिए जाने की खबरें फैलीं।

ऐसी खबरें हैं कि वह नामांकन वापस ले सकती हैं मगर अब समय कम ही बचा है।

पच्छाद: दयाल प्यारी ने किया नामांकन वापस न लेने का फैसला, लड़ेंगी चुनाव

(यह खबर एमबीएम न्यूज नेटवर्क के साथ सिंडिकेशन के तहत प्रकाशित की गई है)

वह वीडियो, जिसे दयाल प्यारी के अपहरण का वीडियो बताया गया-

#Himachal: पच्छाद में BJP की तानाशाही… दयाली प्यारी को जबरन गाड़ी में धकेला और उठाकर कहीं ले गए बीजेपी कार्यकर्ता।…

Samachar First ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಬುಧವಾರ, ಅಕ್ಟೋಬರ್ 2, 2019

SHARE