जब बीज मन्त्रों से शर्तिया समाधान की बात से मुकर गए थे कुमार स्वामी

इन हिमाचल डेस्क।। जनता को भ्रमित करने के लिए अखबारों के साथ मिलकर खबरों की शक्ल में झूठे विज्ञापन छपवाने वाले तथाकथित ऋषि कुमार स्वामी पर लंबे समय से गुमराह करने के आरोप लगते रहे हैं। बीजमन्त्र लेने के लिए पत्रिका लगवाना ज़रूरी करने वाले स्वामी से विशेष मुलाकात के रेट फिक्स हैं। यानी आप पैसा खर्च करने को तैयार हैं तो आपको कुमार स्वामी अलग से समय देकर मिलेंगे ताकि आप उन्हें समस्या सुना सकें।

इसके अलावा विभिन्न पदाधिकारियों और नेताओं को भेजी गई चिट्ठियों की सामान्य पावतियों को ये अपने लिए टेस्टीमोनियल के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। अपनी आयुर्वेदिक कम्पनी के प्रचार के लिए किए गए इवेंट को गलत ढंग से कृपा के रूप में पेश करते हैं।

मंडी वाले समागम का विज्ञापन

आजकल हिमाचल पर फोकस कर रहे इन स्वामी जी के भ्रामक दावों से कई ज़रूरतमंद आकर्षित हुए मगर बाद में तब वे होश में आए जब खुद को छला हुआ महसूस क़िया। इंडिया टीवी के एक कार्यक्रम में इसी तरह के सवाल जब उठे तो विज्ञापनों ‘सब सुख दूर करने’ का दावा करने वाले कुमार स्वामी ने कहा – ‘समस्या दूर हो भी सकती है, नहीं भी। मैंने कब कुछ कहा?’

देखें वीडियो और खुद तय करें ‘चमत्कारी’ व्यक्ति कैसे तर्क दे रहे हैं-

SHARE