क्या दिल्ली तक पहुंच पाएगी सुरेश भारद्वाज की स्तुति की गूंज?

प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कैबिनेट के फ़ैसलों की जानकारी देते सुरेश भारद्वाज

इन हिमाचल डेस्क।। हिमाचल प्रदेश के शहरी विकास मंत्री और शिमला सिटी से बीजेपी विधायक सुरेश भारद्वाज ने गुरुवार को शिवरात्रि के एक कार्यक्रम में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात की तो शिवरात्रि की महिमा बताते-बताते वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगान करने लगे। इस दौरान उन्होंने यह तक कह दिया कि प्रधानमंत्री मोदी वास्तव में भगवान शिव के ‘अवतार पुरुष’ हैं।

सोशल मीडिया पर लोगों ने इस खबर पर काफी प्रतिक्रियाएं दीं। अधिकतर का कहना था कि इस तरह से टिप्पणी करना बिल्कुल अनुचित है। कुछ लोगों ने इसे स्लिप ऑफ टंग कहा, कुछ ने ‘मोदी भक्ति’ तो कुछ ने इसके पीछे छिपे संदेश की भी अपने हिसाब से व्याख्या कर दी।

गुरुवार को शिमला में सचिवालय से लेकर पत्रकारों के बीच भी सुरेश भारद्वाज का यह बयान चर्चा में बना रहा। कुछ लोगों ने इसे उत्तराखंड में हाल ही में हुए नेतृत्व परिवर्तन से भी जोड़ा और कहा कि ऐसा तो नहीं कि हिमाचल में भी ऐसी किसी संभावना के बारे में सोचते हुए भारद्वाज ने अपने ‘नंबर बनाने की कोशिश’ की है।

हालांकि, कुछ पत्रकारों का कहना है कि हो न हो, यह बयान समझ-बूझ के साथ दिया गया बयान है न कि किसी तरह का स्लिप ऑफ टंग। दरअसल, ऐसी खबरें हैं कि हाल ही में एक पूर्व पत्रकार ने मंत्री महोदय के लिए ‘मीडिया प्रबंधन’ करना शुरू किया है। ऐसे में काफी लोगों को लगता है कि यह सोची समझी रणनीति के तहत खुद को ‘असर्ट’ करने यानी एक तरह से दावेदारी जताने की दिशा में उठाया गया एक कदम है।

मंत्री महोदय के इस बयान पर बीजेपी के किसी नेता की तरफ से कोई सार्वजनिक प्रतिक्रिया नहीं आई है लेकिन सत्ताधारी नेताओं से लेकर विपक्षी नेताओं के बीच भी यह बयान चर्चा का विषय बना हुआ है। इस बीच, सोशल मीडिया पर कुछ लोग पूछ रहे हैं- क्या इस स्तुति की गूंज दिल्ली पहुंच पाएगी? और पहुंचेगी तो उसका असर क्या होगा?

SHARE