भिंडरावाले सिखों के कौमी शहीद हैं, सीएम जयराम का बयान आपत्तिजनक: SGPC अध्यक्ष

डेस्क।। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के उस बयान पर आपत्ति जताई है जिसमें उन्होंने कहा था कि जरनैल सिंह भिंडरावाला की तस्वीरें और झंडे लगाकर हिमाचल आना स्वीकार्य नहीं होगा।

एडवोकेट धामी ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी हर समुदाय की रक्षा करना है और उनका बयान सांप्रदायिक है जिससे देश की शांति और सौहार्द को नुकसान पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि भारत कई धर्मों, कई भाषाओं का देश है और हर नागरिक धार्मिक स्वतंत्रता है।

धामी ने कहा, “संत जरनैल सिंह खालसा भिंडरावाले सिखों के कौमी शहीद हैं श्री अकाल तख्त साहिब ने उन्हें शहीद का दर्जा दिया है।”

धामी ने कहा, “हिमाचल प्रदेश में बहुत से सिख रहते हैं और पंजाब से भी बड़ी संख्या में हर साल वहां सिख तीर्थयात्री पहुंचते हैं। कुछ असमाजिक तत्व हिमाचल पुलिस की मदद से उनका रास्ता रोक रहे हैं और कानून अपने हाथ में लेकर निशान साहिब और सिख शहीदों की तस्वीरें उतार रहे हैं।”

एसजीपीसी अध्यक्ष ने कहा कि सिखों ने हमेशा देश की प्रगति में योगदान दिया है और संकट के समय हर समुदाय की सहायता की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को नहीं भूलना चाहिए कि आज अगर देश आजाद है तो उसमें सिखों का भी महान योगदान है।

SHARE