शिमला में बिना पास पकड़े गए नोएडा से आए लोग, बॉर्डर पर कैसे हो रही चेकिंग?

जो गाड़ी पकड़ी गई, वह अशोक लेलैंड की दोस्त (पिकअप है)। यह तस्वीर प्रतीकात्मक है।

शिमला।। एक ओर जहां बाहर से लौटे लोगों में कोरोना के मामले मिलने से हिमाचल प्रदेश में चिंता का माहौल पैदा हो गया है, वहीं कुछ ख़बरें ऐसी आ रही हैं जो बता रही हैं कि पुलिस की ओर से भी चूक हो रही है।

दरअसल शिमला के शोघी नाके पर बुधवार को एक गाड़ी को पकड़ा गया जो जिसपर सवार लोग नोएडा से यहाँ तक पहुँचे थे। इसमें रूसी महिला समेत चार लोगों थे जो कुल्लू के निरमंड जा रहे थे। पुलिस के पूछने पर ड्राइवर पास नहीं दिखा पाया।

पुलिस ने जब इस मामले की जानकारी शिमला के डीसी को दी गई। इनके ऊपर संबंधित क़ानून के तहत मामला भी दर्ज किया गया है। पुलिस ने इसकी पुष्टि की है।

मगर यह घटना चिंता का कारण है क्योंकि शिमला तक आने के बीच कई राज्यों की सीमाएँ हैं और प्रदेश में भी कई जगह नाकेबंदी है। अगर इन लोगों के पास परमिशन नहीं थी तो वे शोघी तक कैसे पहुँच गए? क्यों इन्हें राज्य के अन्य हिस्सों में नहीं पकड़ा गया?

यह जाँच का विषय है क्योंकि ये तो लोग तो शोघी में इसलिए पकड़े गए क्योंकि इन्हें निरमंड जाना था। अगर इन्हें पहले ही कहीं रुकना होता तो पुलिस को पता तक नहीं चलता। अगर इसी तरह से सीमाओं पर चेकिंग हो रही है तो एक शंका यह पैदा होती है कि इस तरह से न जाने कितने लोग अंदर आए होंगे जिन्हें ट्रेस करना मुश्किल होगा।

आलोचना हुई तो नगर निगम शिमला ने सड़क ही कर डाली ‘सैनिटाइज़’

SHARE