लाहौल-स्पीति की बेटी रवीना ठाकुर छू रही हैं आसमान

शिमला।।

हिमाचल का खूबसूरत जिला लाहौल-स्पीति टैलंट के मामले में किसी भी फील्ड में हिमाचल और देश के अन्य हिस्सों से पीछे नहीं है। यहां एक ऐसा गांव है, जहां के लगभग हर घर से प्रसाशनिक सेवा में लोग मौजूद हैं। यह ऐसा जिला है, जहां लिंग अनुपात में बेटियां बेटों से आगे हैं। बर्फीले रेगिस्तान की धरती पर छोटे-छोटे खेतों में हरी सब्जियां उगाते मेहनतकश लोगों की बात की जाए तो भी लाहौल-स्पीति ने हिमाचल प्रदेश को हमेशा गौरवान्वित किया है।

इसी जिले से एक बेटी रवीना ठाकुर कमर्शल पायलट के लाइसेंस के साथ आसमान में उड़ान भरती हैं। इंडिगो एयरलाइन्स में बतौर पायलट कार्यरत रवीना ठाकुर प्रदेश की बेटियों के लिए एक प्रेरणा स्रोत है। रवीना ठाकुर का जन्म 6 जुलाई 1988 को रवि ठाकुर के घर में हुआ, जो वर्तमान में लाहौल स्पीति से विधायक भी हैं।


रवीना ठाकुर ने अपनी मूल शिक्षा मनाली शिमला और दिल्ली से ली उसके बाद उन्होंने अमेरिका में कमर्शल पायलट का कोर्स किया। रवीना ठाकुर अपने नाम के साथ सोशल मीडिया पर अपने जिले का नाम जोड़ के रखती हैं। अक्सर पारम्परिक वेशभूषा में लाहुल स्पीति के लोगों से मिलते हुए उन्हें देखा जा सकता है।

दलाई लामा के साथ रवीना।
दलाई लामा के साथ रवीना।

उनकी दादी स्वर्गीय लता ठाकुर 1972 में हिमाचल प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस की तरफ से जीत कर आईं थीं ट्राइबल हिमाचल से एक महिला को राजनीति में आगे आना बहुत बड़ी बात थी। हालंकि दुनिया का सोचना था कि ट्राइबल इलाकों के लोग बहुत कंजर्वेटिव होते हैं, परन्तु हिमाचल का ताज लाहौल-स्पीति हमेशा इसका अपवाद रहा और यहाँ के लोगों ने बेटियों को हमेशा आगे रखा है। गौरतलब है की प्रदेश की पहली महिला पायलट अपराजिता लाल भी लाहौल स्पीति से सबंध रखती हैं।

Comments

comments

LEAVE A REPLY