मंडी में 12 साल का लड़का पिता बना, 15 साल की लड़की बनी मां

मंडी।। हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में नाबालिग लड़का-लड़की माता-पिता बन गए। लड़की ने पद्धर अस्पताल में स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। जब डॉक्टरों ने जच्चा-बच्चा को डिस्चार्ज करने के लिए आधार कार्ड मांगे तब पाया कि खुद को पति-पत्नी बता रहे लड़का-लड़की नाबालिग हैं।

बताया जा रहा है कि आधार कार्ड के मुताबिक लड़की की उम्र 15 साल है और लड़के की उम्र 12 साल। हालांकि लड़के का कहना है कि उसकी उम्र 17-18 साल है। ऐसे में डॉक्टरों ने तुरंत पुलिस को खबर की क्योंकि दोनों की ही उम्र विवाह के लिए जरूरी कानूनी उम्र से कम है।

विवाह के लिए लड़की की उम्र 18 वर्ष और लड़के की उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए। ऐसे में पुलिस ने डॉक्टरों की शिकायत के आधार पर लड़के के खिलाफ धारा 376 और प्रिवेंशन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्शुअल ऑफेंसेज़ ऐक्ट (पॉक्सो ऐक्ट) के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

क्या है मामला
ऐसी जानकारी सामने आई है कि लड़की के पिता का निधन हो चुका है और उसकी मां ने कहीं और शादी कर ली है। वहीं लड़का भी आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि वाले परिवार से है। दोनों साथ रह रहे थे औऱ कथित तौर पर उन्होंने शादी कर ली थी।

इसी बीच लड़की गर्भवती हो गई। 26 मार्च को नाबालिग लड़की को प्रसव पीड़ा हुई तो साथ रहने वाला लड़का उसे सिविल हॉस्पिटल पद्धर ले आया। यहां 27 तारीख को उसने लड़के को जन्म दिया।

पुलिस का कहना है कि लड़की के नाबालिग होने की पुष्टि हो गई है जबकि लड़के की उम्र का सही से पता नहीं चल पाया है। पंचायत वगैरह में रिकॉर्ड क्रॉस चेक करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Comments

comments

LEAVE A REPLY