त्रियुंड: प्रति टेंट 200 रुपये लेकर बदले में क्या दे रही है सरकार?

सेल्फी लेती टूरिस्ट

धर्मशाला।। हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी धर्मशाला में जन्नत के नाम से मशहूर पर्यटन स्थल त्रियुंड में हर साल लाखों पर्यटक घूमने आते हैं। धर्मशाला से मैक्लोडगंज और धर्मकोट होते हुए लगभग सात किलोमीटर के पैदल ट्रेक के बाद यहां पहुंचा जा सकता है। त्रियुंड से धौलाधार की पहाड़ियां बिलकुल नजदीक दिखाई देती हैं। इस खूबसूरत नजारे को देखने के लिए पर्यटक यहां आते हैं मगर उन्हें कोई सुविधा नहीं मिलती।

जैसे कि टॉयलट तक यहां नहीं है। लोग यहां गड्ढा खोदते हैं और फिर उसे मिट्टी से ढक देते हैं। पानी की एक बोतल की कीमत 50 रुपये है। कई सालों से ऐसा ही हो रहा है। यहां आकर टेंट लगाने वालों से विभाग 200 रुपये (प्रति टेंट) लेता है मगर बदले में कोई सुविधा नहीं दी जाती।

क्या कहते हैं पर्यटक
मुंबई से घूमने आई पर्यटक दीक्षा का कहना है कि यह जगह है तो बहुत अच्छी मगर सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि दिक्कत की बात यह है कि खुले में शौच जाना पड़ता है।

त्रियुंड में कैम्पिंग का काम करने वाले विशाल का कहना है कि प्रति टेंट वह सरकार को 200 रुपये देते हैं लेकिन यहां मूलभूत सुविधाओं की अभी भी कमी है। वह कहते हैं कि सरकार को इस ओर भी ध्यान देना चाहिए।

जानें, कौन है धर्मशाला के त्रियुंड में फोटो खिंचवाने वाली लड़की

SHARE