वीडियो देख आप भी कहेंगे, स्कूल बसों में सीट बेल्ट जरूरी की जाए

इन हिमाचल डेस्क।। क्या बसों में भी सीट बेल्ट पहनना अनिवार्य कर दिया जाना चाहिए? भले ही यह बात अटपटी लगे, मगर अमेरिका और कई यूरोपीय देशों में बसों में सीट बेल्ट इस्तेमाल की जाती हैं। भारत में भी प्रीमियम बसों में सीट बेल्ट्स होती हैं, मगर या तो वे हटा दी जाती हैं या फिर इस्तेमाल नहीं की जातीं।

पिछले दिनों जब शिमला में हिमाचल पुलिस ने वाहनों की आगे की सीट के लिए भी सीट बेल्ट पहनना अनिवार्य कर दिया था, तब लोगों ने विरोध किया था कि पहाड़ी राज्यों में कई बार वाहन खाई में गिरने लगते हैं तो कूदना पड़ता है। मगर यह तर्क काफी हास्यास्पद है, क्योंकि वाहन जिस गति में हादसे का शिकार होता है, उसमें सेकंड के कुछ ही हिस्सों में कूदना असंभव है।

क्या होता है जब स्कूल बस पलटती है?
लोगों में यह अवधारणा भी बनी हुई है कि सीट बेल्ट सिर्फ हेड ऑन कलिज़न यानी टक्कर हो जाने पर ही फायदेमंद है। जबकि हकीकत यह है कि किसी भी स्थिति में सीट बेल्ट मददगार हो सकती है और खाई में लुढ़कने की स्थिति में भी। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर मौतें इसलिए होती हैं क्योंकि जब बस या वाहन पलटियां खा रहे होते हैं, अंदर का सामान और आदमी भी उलट-पलट रहे होते हैं। ठीक वैसे, जैसे एक डब्बे के अंदर रखी चीजें उसे हिलाने पर इधर-उधर टकरा रही होती हैं।

नीचे का वीडियो बताता है कि सकूल बसों के लिए सीट बेल्ट कितनी जरूरी हैं। इससे ये भी पता चलता है कि स्कूल बसों के पलटने पर अंदर क्या होता है:

ऐसे में अगर सीट बेल्ट लगाई गई हो तो वाहनों के ऊंचाई से गिरने या पलटने पर उस स्थिति मे कम नुकसान होगा, जब यात्रियों ने सीट बेल्ट लगाई हो। ऐसा होने पर वे अपनी सीटों से चिपके रहेंगे, अंदर सीटों या छत से नहीं टकराएंगे। कुछ लोगों को तो चोटें आएंगी, लेकिन बहुतों की जान बचेगी। यानी नुकसान उस स्थिति के मुकाबले कम होगा, जिस स्थिति में बेल्ट न लगाई हो।

नीचे का वीडियो देखें, सीट बेल्ट न लगाने पर सवारियों का क्या होता है, जब वाहन पलटियां खाता है:

हिमाचल प्रदेश में आए दिन हो रहे हादसों में मरने वालों की संख्या इसलिए भी ज्यादा होती है, क्योंकि वे अंदर ही लगने वाले झटकों से जख्मी हो जाते हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि सीट बेल्ट्स से नुकसान को कम किया जा सकता है।

नीचे हम कुछ वीडियो लगा रहे हैं, जिससे आपको पता चलेगा कि सीट बेल्ट्स कितनी जरूरी हैं। नीचे का वीडियो दिखाता है कि बस के पलटने पर क्या हुआ, जब अंदर सीट बेल्ट नहीं लगाई गई थी।

और नीचे का वीडियो देखें, बस पलटने पर सीट बेल्ट कितनी फायदेमंद रही।

क्या आपको नहीं लगता कि वाहनों, बसों और खासकर स्कूल बसों में तो सीट बेल्ट्स जरूरी की ही जानी चाहिए? अपनी राय कॉमेंट करके दें।

Comments

comments

LEAVE A REPLY