मैं राजा हूं, टूट सकता हूं मगर झुक नहीं सकता: वीरभद्र सिंह

सोलन।। शिमला रूरल सीट बेटे के लिए छोड़ने के बाद अर्की से चुनाव लड़ रहे मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह बीजेपी की तरफ से लगाए जा रहे आरोपों पर हमलावर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने मेरी संपत्ति को लेकर एक ही मामले में तीन-तीन जांचें बिठाई हैं ताकि परेशान करके सत्ता हासिल कर सके, मगर ऐसा नहीं होगा।

 

वीरभद्र सिंह ने कहा,  “मैं टूट सकता हूं लेकिन झुक नहीं सकता। मैं कोई खानाबदोश नहीं हूं। अपने वंश का 122वां राजा हूं। सीलिंग ऐक्ट के समय मेरे परिवार की करोड़ों रुपये की जमीनें सरकार को दी गई हैं।”

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा से ही लोगों को तोड़ने का काम करती है। कभी वह क्षेत्रवाद के नाम पर लोगों को तोड़ती है, कभी धर्म के नाम पर तो कभी गोरक्षा के नाम पर।

Comments

comments

LEAVE A REPLY