माता-पिता ने कहा, हमारी बेटी को है बाल झड़ने की समस्या: मीडिया रिपोर्ट्स

कथित तौर पर अध्यापिका ने गणित का सवाल हल न करने पर बच्ची को बालों से पकड़ा था।

मंडी।। सुंदरनगर के एक प्राइमरी स्कूल में तीसरी क्लास में पढ़ने वाली बच्ची के सिर के बाल कथित तौर पर अध्यापिका द्वारा उखाड़े जाने के मामले में अब नई जानकारी सामने आई है। हिंदी अखबार ‘जागरण’ के मुताबिक ये बाल अध्यापिका ने नहीं नोचे थे बल्कि बच्ची को बाल झड़ने की समस्या है और यह बात मेडिकल रिपोर्ट में सामने आई है।

यही नहीं, खबर के मुताबिक बच्ची के माता-पिता ने लिखित पत्र में कहा है कि उनकी बेटी को बाल झड़ने की समस्या है और उन्होंने गांव के कुछ लोगों के बहकावे में आकर अध्यापिका के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी।

क्या है मामला
मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि गणित का सवाल हल न कर पाने पर अध्यापिका ने बच्ची को बालों से पकड़कर घुमाया था और इस दौरान उसके बाल उखड़ गए। इसकी एक तस्वीर भी शेयर की जा रही थी। इसके बाद विभाग ने जांच शुरू की थी और ऐसी खबरें आई थीं कि अध्यापिका का तबादला भी कर दिया है।

मगर अब जागरण की खबर कहती है कि मेडिकल रिपोर्ट में पता चला है कि बच्ची को बाल झड़ने की बीमारी है। फिर भी पुलिस इस मामले में अभी स्किन स्पेशलिस्ट की राय लेगी।

अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, “सोमवार को जांच के लिए स्कूल पहुंचे एलिमेंटरी शिक्षा मंडी के उपनिदेशक केडी शर्मा, खंड शिक्षा अधिकारी मीरा शर्मा, पीटीएफ सुंदरनगर के अध्यक्ष राम सिंह और पुलिस थाना बीएसएल कॉलोनी के जांच अधिकारी दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए।”

“जांच टीम के समक्ष छात्रा के माता-पिता ने लिखित तौर पर इस बात को कबूला की उनकी बेटी को बाल झड़ने की शिकायत है। छात्रा के परिजनों ने पुलिस को भी लिखित पत्र में इस बात को कबूल किया है कि बाल झड़ने की बीमारी है तथा गांव के कुछ लोगों की बहकावे में आकर पुलिस थाना में शिक्षिका के खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाई है।”

गौरतलब है कि इससे पहले ऐसी भी खबरें आई थीं जिनमें बच्ची के परिजन दावा कर रहे थे कि उनके ऊपर समझौता करने का दबाव बनाया जा रहा है।

Comments

comments

LEAVE A REPLY