नूरपुर: किनारे से टूटी हुई है सड़क, 6 माह पहले गिरा था ट्रक

कांगड़ा।। नूरपुर में जिस जगह पर हादसा हुआ है, जानकारी सामने आई है कि वहां पर छह महीने एक ट्रक भी गिरा था। बताया जा रहा है कि स्कूल बस खाई में गिरने के बाद उसी जगह पहुंच गई, जहां पर ट्रक का मलबा गिरा हुआ था।

चेली गांव के पास इस जगह की जो तस्वीर सामने आई है, उसमें साफ देखा जा सकता है कि सड़क के किनारे का हिस्सा टूटा हुआ है। साथ ही यहां पर पैरापिट तक नहीं हैं।

जैसा कि घटना में जख्मी हुए बच्चे रणवीर ने दावा किया कि बाइक को पास देते समय बस सड़क से बाहर गिरी (यहां क्लिक करके पढ़ें), उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगर सड़क चौड़ी होती और बाकायदा पैरापिट लगे होते तो शायद यह हादसा न होता।

बच्चे के दावे पर यकीन करें तो यह बेशक दुर्योग था कि बाइक को अचानक इसी जगह पर पास देना पड़ा, जिसके कारण ड्राइवर ने अचानक स्टीरिंग मोड़ा और जगह कम होने के कारण टायर सड़क से बाहर चले गए और बस खाई में गिर गई।

भले ही सड़क वाला हिस्सा सुरक्षित है लेकिन सवाल उठता है कि सड़क को नुकसान पहुंचा था और एक ट्रक यहां से गिर चुका था, तब लोक निर्माण विभाग ने क्यों इस सड़क की मरम्मत नहीं की? क्यों यहां पैरापिट नहीं थे? अब बेशक विभाग कह रहा है कि इस बात की जांच होगी कि पैरापिट क्यों नहीं बने, मगर सवाल उठता है कि हर बार हादसा होने के बाद ही क्यों इस तरह की बातें होती हैं?

यह बात सही है कि हादसे बताकर नहीं होते और कहीं भी हो सकते हैं और कभी भी हो सकते हैं। मगर हमें यह मानना होगा कि लापरवाही के कारण हादसों के बढ़ने की आशंकाएं बढ़ जाती हैं। इस मामले में क्या हुआ, क्यों हादसा हुआ, यह तो न्यायिक जांच पूरी होने के बाद ही सामने आएगा। मगर अभी कहीं न कहीं पीडब्ल्यूडी की भी गलती नजर आ रही है। सड़कें खराब होने पर हादसे होने की आशंकाएं बढ़ जाती हैं।

Comments

comments

LEAVE A REPLY