5 साल CM रहे वीरभद्र नए स्वास्थ्य मंत्री से बोले- मेरे इलाके में नहीं हैं डॉक्टर

कांगड़ा।। अभी नई सरकार को बने कुछ ही दिन हुए हैं और इससे पहले पांच साल तक प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी। वीरभद्र सिंह इस सरकार के मुखिया थे और इस बार उन्होंने सोलन के अर्की से चुनाव लड़ा था और अब वहां से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं। लेकिन उन्होंने खुद ही स्वीकार कर लिया है कि उनकी सरकार के समय अस्पतालों की क्या हालत थी। दरअसल उन्होंने नए स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात के दौरान कहा- मेरे इलाके का ध्यान रखा जाए, अर्की अस्पताल में डॉक्टर हैं न स्टाफ।

 

पंजाब केसरी अखबार ने खबर छापी है कि पूर्व मंत्री जीएस बाली की बेटी के विवाह समारोह में पहुंचे छह बार के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान वीरभद्र ने कहा कि उनके हल्के का ध्यान रखा जाए, अर्की अस्पताल में न डॉक्टर हैं और न स्टाफ़

 

लेकिन सवाल उठता है कि कुछ दिन पहले तक प्रदेश में वीरभद्र सिंह की सरकार थी। ऐसे में यह बताकर कि अर्की अस्पताल में डॉक्टर और स्टाफ नहीं है, वह विपिन परमार से शिकायत कर रहे थे या अपनी विफलता का सुबूत दे रहे थे?

 

बहरहाल, वीरभद्र सिंह की इस मांग पर स्वास्थ्य मंत्री ने जवाब दिया कि वह इस मामले को अवश्य देखेंगे। उन्होंने कहा कि आपके काम कौन नहीं करेगा, आपका मार्गदर्शन तो हर किसी को चाहिए।

Comments

comments

LEAVE A REPLY