छात्र ने स्कूल में की नसें काटने की कोशिश, बुलीइंग हो सकती है वजह

एमबीएम न्यूज नेटवर्क, ऊना।। हिमाचल प्रदेश के ऊना में एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ रहे छात्र ने बाजू की नस काटने की कोशिश की है। बच्चे को ज़ख्मी हालत में ऊना हॉस्पिटल पहुंचाया गया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक बच्चा कथित तौर पर अपने कुछ सहपाठियों से परेशान था।

 

जानकारी है कि 15 वर्षीय विनोद (काल्पनिक नाम) रोज की तरह स्कूल आया था। उसने स्कूल में किसी तेज़ धार वाले हथियार से अपनी बांह की नसों को काटने की कोशिश की, जिसपर सहपाठियों ने शोर मचा दिया। स्कूल स्टाफ ने तुरंत उसे ऊना अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने टांके लगाए हैं।

 

बुलीइंग हो सकती है वजह
इस मामले में भी यही आशंका जताई जा रही कि छात्र अपने किन्ही सहपाठियों से परेशान थे, जो कि उसे बेवजह तंग करते थे। कहा जा रहा है कि उन्हीं से तंग आकर उसने यह कदम उठाया। हालांकि डीएसपी कुलविंद्र सिंह ने कहा है कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और पीड़ित छात्र का बयान लिया जा रहा है।

एमबीएम न्यूज नेटवर्क का फेसबुक पेज लाइक करें

क्या है बुलीइंग
बुलीइंग (Bullying)  यानी दादागिरी। स्कूलों में यह एक बड़ी समस्या है जहां कुछ छात्र अपने से कमजोर छात्रों को डराया-धमकाया करते हैं और कई बार पिटाई करके या अन्य माध्यमों से शारीरिक या मानसिक यंत्रणा देते हैं।

 

भले ही दादा किस्म के बच्चे मजे लेने के लिए ऐसा करते हैं, मगर पीड़ित बच्चों पर इसका गहरा और खराब प्रभाव पड़ता है। सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को चाहिए कि इस तरह की दादागिरी को खत्म करने के लिए बच्चों के बीच इस संबंध में जागरूकता लाए।

(यह खबर सिंडिकेशन के तहत प्रकाशित की गई है)

Comments

comments

LEAVE A REPLY