PNB स्कैम को लेकर मोदी सरकार से नाराज हुए शांता कुमार

शिमला।। हर मुद्दे पर बेबाकी से राय रखने वाले हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांगड़ा से भारतीय जनता पार्टी के सांसद शांता कुमार ने पीएनबी स्कैम को लेकर अपनी ही सरकार के प्रति नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है कि “मोहम्मद गौरी, गजनी और अंग्रेजों ने भारत को लूटा था, लेकिन अब अपने ही लोग लूट रहे हैं। फर्क इतना है कि तरीका बदल गया है। अब लूटने वाले भी अपने हैं और लुटने देने वाली सरकार भी अपनी है। इससे बड़ा कोई दुर्भाग्य नहीं हो सकता।”

 

शांता ने  कहा है कि आजादी के 70 साल बाद भी देश लूटा जा रहा है। करोड़ों-अरबों रुपया कुछ बड़े उद्योगपतियों को उधार देकर लुटाया जा रहा है। उधार लेने में नियमों को ताक पर रखा गया। बैंकों ने पैसा वापस न आने पर राशि को उधार की मद में डाल दिया। लेकिन ऐसे रसूखदारों पर कोई कार्रवाई नहीं होती।

 

उन्होंने कहा, “लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि कांग्रेस के समय यह एनपीए राशि 52 लाख करोड़ रुपये हो गई है। इसे कम करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन छह लाख करोड़ रुपये का तो कहीं कोई हिसाब नहीं है। नतीजतन यह धन हमेशा के लिए डूब गया। अब 52 लाख करोड़ रुपयों में से कितना धन वापस आएगा और कितना डूब जाएगा, इस पर कुछ कहा नहीं जा सकता।”

 

‘खजाने लूटकर भाग रहे अमीर’
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि गरीब किसान उधार लेता है। उसकी फसल बर्बाद होती है और वह उधार चुका नहीं पाता। उस पर सख्त कार्रवाई होती है। सिर्फ गरीब किसानों तक सीमित कार्रवाई का ही नतीजा है कि तीन लाख से अधिक किसान आत्महत्या कर चुके हैं। दूसरी तरफ अमीर करोड़ों-अरबों रुपये लेकर भाग जाते हैं। विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे लोग खुलेआम देश के खजाने को लूटकर भाग रहे हैं।

 

अपना बयान उन्होंने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया है:

Comments

comments

LEAVE A REPLY