सलाम: ASI पदम देव ने खुद को खतरे में डालकर बचाई बुजुर्ग की जान

एमबीएम न्यूज नेटवर्क, नाहन।। दिन शुक्रवार, वक्त करीब शाम के साढ़े चार बजे… नाहन के बाजार में रोज की तरह ही हलचल थी। पिछले दिनों ही बिलासपुर से यहां ट्रांसफर होकर आए एएसआई पदम देव वर्मा हलवाई की दुकान में बैठे हुए थे। इसी दौरान दुकान से एक लड़के ने सामने से आ रही गाय की तरफ एक रोटी डाल दी। पीछे से एक और गाय इस रोटी की तरफ लपकी। एक बुजुर्ग बीच में खड़े थे। पूरी आशंका थी की तेजी से दौड़कर रोटी की तरफ आती गाय और पहले से पास में खड़ी गाय के बीच में फंसकर बुजुर्ग जख्मी हो सकते हैं और कुछ अनहोनी तक हो सकती थी।

 

इससे पहले कि कोई कुछ कर पाता, एएसआई पदम देव झटके से उठे और बुजुर्ग से लिपटकर उन्हें सुरक्षित कर लिया। उधर तेजी से आती गाय के खुर से पदम देव के पैर का अंगूठा कुचल गया। गाय ने एएसआई को पीछे धकेलने की कोशिश भी की, मगर गनीमत थी कि गाय के सींग नहीं थे तो नुकसान कम हुआ। अगर बुजुर्ग को या पदम देव को गाय टक्कर मारती तो नुकसान गंभीर हो सकता था।

Image: MBM News Network

चेकअप में पता चला है कि एएसआई के पांव में फ्रैक्चर हुआ है। बाजार में मौजूद कई लोगों ने यह दृश्य देखा। पदम बताते हैं कि लोगों ने बाद में पास आकर उन्हें सराहा तो काफी उत्साह बढ़ा।

एमबीएम न्यूज नेटवर्क का फेसबुक पेज लाइक करें

जानकारी यह भी है कि एएसआई पदम देव वर्मा ने अपनी बिलासपुर में डयूटी के दौरान एक गोशाला भी चलाई थी।

तस्वीर सांकेतिक है।

इस गोशाला में 35 से 40 बेसहारा गऊओं को रखकर देखभाल की जाती थी। वह इस संस्था के खुद अध्यक्ष हैं। इसके अलावा एएसआई पदम देव स्कूलों में जाकर छात्रों को योग की शिक्षा भी देते हैं।

(यह एमबीएम न्यूज नेटवर्क की खबर है और सिंडिकेशन के तहत प्रकाशित की गई है)

Comments

comments

LEAVE A REPLY