मृतक पुलिसकर्मी के परिजनों ने उठाया अग्निहोत्री के ‘झूठ’ से पर्दा

ऊना।। कांग्रेस विधायक दल के नेता और हरोली से विधायक मुकेश अग्निहोत्री पर एक दिवंगत पुलिसकर्मी के परिजनों ने ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया है।

दरअसल जयराम सरकार को घेरने के लिए मुकेश अग्निहोत्री ने आरोप लगाया था कि उनके इलाके में रहने वाले दो पुलिसकर्मियों की मौत तबादला कर दिए जाए की वजह से हुई है। मगर इनमें से एक पुलिसकर्मी की पत्नी और बेटे ने डीसी ऊना को ज्ञापन सौंपा है और मांग की है कि इस मामले में राजनीति करने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

पुलिस विभाग में काम करने वाले बुद्ध सिंह की पांच अप्रैल को ब्रेन हैमरेज के कारण मृत्यु हो गई थी। अग्निहोत्री ने दावा किया था तबादला होने के कारण बुद्ध सिंह मानसिक रूप से परेशान थे और तनाव में थे। मगर बुद्ध सिंह की पत्नी परमजीत ने कहा कि उनके पति की मौत ब्रेम हैमरेज से ही हुई है और उनहें प्रताड़ित नहीं किया गया।

दरअसल मुकेश अग्निहोत्री की अगुवाई में एडीसी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा गया था। इसमें कहा था कि बदले की भावना से बीजेपी सरकार ने बीमार पुलिसकर्मियों के तबादले कर दिए जिनके उनकी मौत हो गई। कांग्रेस ने इन्हें राजनीतिक हत्या बताते हुए उच्चस्तरीय जांच करने और हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की थी।

मगर अब इनमें से एक दिवंगत पुलिसकर्मी बुद्ध सिंह की पत्नी परमजीत ने कहा कि यह बात झूठ है उनके पति का तबादला हुआ था। उन्होंने कहा कि 25 साल तक उनके पति ने पुलिस विभाग में सेवाएं दीं और पिछले दस साल से वह पुलिस लाइन झलेड़ा में ही तैनात थे।

वहीं बुद्ध सिंह के बेटे ने कहा कि उन्हें और उनके परिवार को इस बात से आघात पहुंचा है कि कैसे उनके पिता की मौत पर राजनीति की जा रही है। उन्होंने डीसी से मांग की है कि ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करें।

Comments

comments

LEAVE A REPLY