एम्स कहां खुलेगा, अभी यह निश्चित नहीं हुआ है: जे.पी. नड्डा

बिलासपुर।। हिमाचल में एम्स कहां बनेगा? इस सवाल को अगर पूछा जाए तो सबका जवाब यही होगा कि हिमाचल में एम्स का बनना बिलासपुर में प्रस्तावित है। प्रदेश सरकार और खुद मुख्यमंत्री वीरभद्र भी कह चुके हैं कि राज्य सरकार की तरफ से औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं, बस केंद्र की तरफ़ से देरी हो रही है। मगर केंद्रीय मंत्री जे.पी. नड्डा अब कहा है कि यह संस्थान कहां खुलेगा, यह निश्चित होना अभी बाकी है।

 

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने हिमाचल प्रदेश में एम्स खोलने का ऐलान किया था। इसके लिए हिमाचल सरकार ने बिलासपुर में जगह मुहैया करवाई थी। बाद में ख़बर आई कि वन विभाग की कुछ जमीन के लिए एनओसी लेने का काम अभी पूरा नहीं हो पाया है। मगर एम्स को लेकर ख़ूब राजनीतिक बयानबाजी हुई।

 

एक तरफ बीजेपी नेताओं का कनहा था कि राज्य सरकार की तरफ से जमीन पूरी न देने की वजह से निर्माण कार्य लटका है, जबकि मुख्यमंत्री वीरभद्र का कहना था कि नड्डा जानबूझकर काम को लटका रहे हैं ताकि शिलान्यास की पट्टिका में मेरा नाम न आ जाए। पिछले दिनों जब नड्डा से इस संबंध में सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि इस मामले में कुछ टेक्निकैलिटीज़ हैं।

 

मगर अब उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने हिमाचल के लिए एम्स दिया है और यह हिमाचल में खुलना तय है। मगर कहां खुलेगा यह निश्चित होना अभी बाकी है। उन्होंने यह भी कहा कि जनभावनाओं की कद्र करते हैं मगर इसे खोलने के स्थान का चुनाव करने का फ़ैसला करना मंत्रिमंडल के अधिकार क्षेत्र में है।

इससे पहले चर्चा थी कि 10 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिलासपुर आ रहे हैं और इस दौरान एम्स का शिलान्यास भी होगा और हिमाचल के चुनावी अभियान का आगाज भी। मगर नड्डा ने बयान ने भ्रम की स्थिति पैदा कर दी है।

Comments

comments

LEAVE A REPLY