बलग से आया एक और वीडियो, खुद को शक्ति बता रही महिला

शिमला।। ठियोग के बलग गांव में खुद को अवतार बता रहे बच्चों के मामले में प्रशासन द्वारा कार्रवाई करने के बाद अब भी आस लगाकर पहुंचने वाले लोगों के आने का सिलसिला थम नहीं रहा है। प्रशासन ने बच्चों के पास बाहरी लोगों के आने पर रोक लगा दी है और जबरन वहां पहुंचने की कोशिश करने वालों को पुलिस रोक रही है। अब सोशल मीडिया में एक वीडियो सामने आया है, जिसमें एक महिला खुद को शक्ति बताते हुए आगे जाने देने के लिए कह रही है।

इस वीडियो में पुलिस के सामने कुछ लोग खड़े दिखाई दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये लोग चाहते थे कि पुलिस उन्हें तथाकथित शिव अवतार के पास जाने दे। इसके लिए महिला अजीब-अजीब बातें कर रही है। साथ ही कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो सुनी-सुनाई बातों पर यकीन करके यहां आए हैं और बलग जाना चाहते हैं। वे कह रहे हैं कि हम पागल नहीं हैं।

मगर इन सबमें महिला की बातें कुछ अजीब हैं, खुद देखिए-

बता दें कि बलग में एक ही परिवार के तीन बच्चे खुद को देवताओं का अवतार बता रहे थे और दावा कर रहे थे कि वे सब बीमारियों का इलाज कर देंगे। वे अन्य देवी-देवताओं को भी चुनौती दे रहे थे। हिमाचल के विभिन्न हिस्सों से ही नहीं बल्कि पंजाब और हरियाणा से भी लोग आ रहे थे। उन्हें उम्मीद थी कि कैंसर, किडनी या लीवर फेल हो जाने तक का ये तथाकथित अवतार इलाज कर देंगे।

पूरा मामला क्या है, जानने के लिए यहां क्लिक करें

बलग गांव में लोगों और वाहनों की भीड़ जमा हो गई थी। डॉक्टर इस मामले को मानसिक समस्या और मास हिस्टीरिया का केस बता रहे थे, मगर प्रशासन की तरफ से कार्रवाई नहीं की जा रही थी। शनिवार को इन हिमाचल की ओर से सवाल पूछे जाने के बाद प्रशासन हरकत में आया और बलग में चल रहे तमाशे पर रोक लगाई।

पढ़े: ठियोग में तमाशा बंद; सड़कें ‘सील’, बच्चे इलाज को तैयार

अब बच्चों को भीड़ से दूर रखा जा रहा है और स्थानीय लोगों के अलावा और किसी को भी बलग की तरफ आने की इजाजत नहीं दी जा रही है। साथ ही प्रशासन के मुताबिक खुद को अवतार बताने वाले बच्चों के माता-पिता ने वादा किया है कि वे अपने बच्चों का इलाज करेंगे।

Comments

comments

LEAVE A REPLY