महिला वनकर्मियों पर घुमंतू गुज्जरों के कथित हमले में 8 गिरफ्तार

Image: MBM News Network

कांगड़ा।। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के ज्वाली में पौंग डैम बर्ड सेंक्चुअरी में महिला वन कर्मियों पर हमले के मामले में पुलिस ने आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि घुमंतू गुज्जरों ने वनकर्मी अनीता और नेहा पर कथित तौर पर हमला कर दिया था।

इस घटना के बाद से विभाग पर इस बात को लेकर प्रश्न उठ रहे हैं कि वन्यप्राणी विंग ने अपने स्तर पर शिकाय दर्ज नहीं करवाई है। हमले में घायल हुईं महिला वनरक्षकों से ही मामला दर्ज करवाया गया है। गौरतलब है कि ऑन ड्यूटी अगर किसी सरकारी कर्मचारी के साथ कोई समस्या आती है तो इसमें अक्सर संबंधित विभाग की ओर से मामला दर्ज होता है।

ऐसी भी खबरें हैं कि पुलिस इस मामले में शुरू में कोताही बरत रही थी। इस संबंध में कांगड़ा के एसपी संतोष पटियाल ने कहा है कि  वन कर्मियों पर हमले के आरोप में 8 संदिग्धों को पकड़ लिया गया है जबकि तीन की तलाश की जा रही है।

क्या है मामला
पौंग झील वेटलैंड में पशु चरा रहे गुज्जरों को महिला फोरेस्ट गार्ड ने रोका था। महिला वन कर्मी ने हाई कोर्ट के आदेश के आधार पर पशु चराने के लिए मना किया और पहचान पत्र भी मांगे थे। आरोप है कि इसके बाद गुज्जर समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया था, जिसमें फोरेस्टगार्ड नेहा को ज्यादा चोटें आई थीं। वनरक्षक नीतू पर कथित तौर पर गुज्जर समुदाय की महिलाओं ने लातों से हमला किया था और पास के गांव के लोगों ने उसे बचाया था।

दरअसल पौंग झील वेटलैंड और बर्ड सेंक्चुअरी में पंजाब और जम्मू-कश्मीर से घुमंतू गुज्जर समुदाय के लोग पशु चराने आते हैं। मगर इस क्षेत्र में पशु चराना वर्जित है क्योंकि यह प्रवासी पक्षियों के लिए अभयारण्य घोषित है।

(एबीएमएम न्यूज नेटवर्क की इनपुट्स के साथ)

Comments

comments

LEAVE A REPLY