25.3 C
Shimla
Wednesday, May 23, 2018

लेख: ‘मौनेंद्र मोदी’ से 100 गुना बेहतर थे ‘मौनमोहन सिंह’

आईएस ठाकुर।। कठुआ और उन्नाव गैंगरेप मामलों को लेकर देश उबल रहा है, हर कोई इन घटनाओं के विचलित है, समाज और सरकारों के रवैये...

क्या नागरिकों को बचाने के लिए विदेश में ऑपरेशन चला सकता है भारत?

आई.एस. ठाकुर।। 25 जनवरी, 2012. रात के लगभग 2 बजे सोमालिया के गांव गलकायो के लोग एक अनोखी आवाज से चौंक उठे। ये हेलिकॉप्टरों...

एक दिन फ़ेसबुक पर ‘इंकलाब जिंदाबाद’ लिख देने से कुछ नहीं होगा

राजेश वर्मा।। शहीदी दिवस..आज सभी ने सोशल मीडिया पर जी भर के उन महान शहीदों को श्रद्धांजलि दी जिनकी वजह से हम आप इस आज़ादी...

लेख: विधानसभा में हंगामे और वॉकआउट का मतलब क्या है?

आई.एस. ठाकुर।। पिछली सरकार के दौरान जब प्रेम कुमार धूमल नेता प्रतिपक्ष थे, तब बीजेपी के विधायक आए दिन विधानसभा से वॉकआउट किया करते थे।...

लेख: हर विभाग के हर दफ्तर में लगे CCTV कैमरा, सुधर जाएंगी सेवाएं

राजेश वर्मा।। शिक्षा की बेहतरी व गुणवत्ता के दृष्टिकोण से सरकार व विभाग द्वारा बोर्ड परिक्षाओं में नकल रोकने के लिए प्रदेश के स्कूलों में...

पक्के हिंदू मगर जातिवाद के कट्टर विरोधी थे शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती

राजेश वर्मा।। शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती जी एक ऐसी शख्सियत जिन्हें धर्मगुरु कहें, समाजसेवी कहें या सनातन धर्म के प्रचारक प्रसारक कहें या कुछ और? जमाने...

लेख: हिमाचल की लचर स्वास्थ्य सुविधाओं को ऐसे सुधार सकती है सरकार

कर्म सिंह ठाकुर।। सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में दिन प्रतिदिन सुविधाएं गर्त में जा रही है। सुबह ही लंबी लंबी कतारें हर अस्पताल की कहानी...

हिमाचल में घर, गांव और राजनीति से लेकर देव परंपरा तक फैला है जातिवाद

हिमाचल प्रदेश में कुल्लू के चेष्टा स्कूली बच्चों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में कथित रूप से जाति के आधार पर किए गए...

कर्ज न चुकाने वाले अमीरों पर चले किसानों की हत्या का मामला

राजेश वर्मा।। किसानों द्वारा आत्महत्या करना आत्महत्या नहीं, हत्या है और इनका उन लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए जो देश के बैंकों...

हिमाचल में जातिवाद: शुतुरमुर्ग बने बैठे हैं तथाकथित अगड़ी जातियों के कुछ लोग

इन हिमाचल डेस्क।। जातिवाद हिमाचल प्रदेश में इतने चरम पर है कि तथाकथित अगड़ी जातियों के लोग यही मानने को तैयार नहीं है कि...